Skip to main content

Constituents of CAAJ

In a meeting called for constituting CAAJ in the Press Club of India, almost two dozens representatives of various groups participated and gave suggestions regarding the National Convention against Assault on Journalists.


The interim list of CAAJ constituents is as under. This is a process in making and we have to include as many independent groups as possible.



Mediavigil.com
Samkaleen Teesari Dunia
Samkaleen Janmat Azhimukham.com 
Janjwar.com 
Hastakshep.com 
SangharshSamwad.org 
Newsclick.com 
TheCitizen.in
Gorakhpur Newsline 
Palpal news 
Dalit Dastak 
Nagarik 
Dastak 
Forward Press 
Delhi Ki Selfie 
Yuva Samwad 
Desh Dunia 
SuhiSaver.com 
Justice News 
Peoples Vigilance Committee for Human Rights
New Socialist Initiative
National Movement Front 
Rihai Manch 
Indian Social Action Forum 
National Alliance of Peoples Movements
SRUTI 
Popular Education and Action Centre 
Peoples Commission for Shrinking Democratic Spaces
Human Rights Defenders Association

Comments

Popular posts from this blog

ओडिशा: रेत माफिया के खिलाफ लिखने पर पत्रकार के ऊपर जानलेवा हमला

ओडिशा के बालासोर में एक उडि़या दैनिक के पत्रकार के ऊपर बुधवार की रात कुछ लोगों ने हमला कर के उन्‍हें बुरी तरह से जख्‍मी कर दिया, जब वे अपने घर से दफ्तर लौट रहे थे। पत्रकार ने हमलावरों की पहचान रेत माफिया के रूप में की है।   उडि़या के प्रतिष्ठित दैनिक समाज के पत्रकार  प्रताप पात्रा  के ऊपर बुधवार की रात नौ बजे धारदार हथियारों से हमला किया गया। उनके सिर, छाती और हाथ पर हमला किया गया लेकिन हेलमेट पहने होने के कारण उनकी जान बच गई, हालांकि हमले में हेलमेट टूट गया और सिर फट गया। हमलावर उनका मोबाइल फोन और सोने की चेन लेकर भाग गए। प्रताप ने कुछ दिन पहले बालासोर के रेत माफिया पर स्‍टोरी की थी। पुलिस के मुताबिक पिछले कुछ दिनों से उन्‍हें धमकियां भी मिल रही थीं। प्रताप ने बाद में स्‍थानीय प्रेस को बताया कि वे हमलावरों को पहचानते हैं और उन्‍होंने उनके नाम की सूची पुलिस को सौंप दी। इस मामले में पुलिस ने कोई एफआइआर अब तक दर्ज नहीं की है लेकिन जांच जारी है।

Fourteen Journalists assaulted while covering anti-CAA protests till date! Here is the list

Amidst the on-going nationwide protest against CAA-NRC several journalist were attacked, intimidated and harassed by the police when they were doing the ground reporting. Ironically most of them come from the minority Muslim community. It shows the bias against the certain community from the state machinery. Several other photo and video journalists were also harassed in these protests by the mobs and protesters.  Here is the current list of the attacked journalists (11/12/19 - 21/12/19):

"मीडिया की घेराबंदी": उत्तर प्रदेश में 2017 से लेकर अब तक हुए मीडिया के दमन पर विस्तृत रिपोर्ट

  उत्‍तर प्रदेश में पांच साल में मारे गए 12 पत्रकार , कानूनी नोटिसों और मुकदमों की भरमार पत्रकारों पर हमले के विरुद्ध समिति (CAAJ) ने उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए पहले मतदान की पूर्व संध्‍या पर ‍बुधवार को चौंकाने वाले आंकड़े जारी किये हैं। अपनी रिपोर्ट '' मीडिया की घेराबंदी '' में समिति ने उद्घाटन किया है कि प्रदेश में पिछले पांच साल में पत्रकारों पर हमले के कुल 138 मामले दर्ज किये गये जिनमें पचहत्‍तर फीसद से ज्‍यादा मामले 2020 और 2021 के दौरान कोरोनाकाल में हुए। समिति के मुताबिक 2017 से लेकर जनवरी 2022 के बीच उत्‍तर प्रदेश में कुल 12 पत्रकारों की हत्‍या हुई है। ये मामले वास्‍तविक संख्‍या से काफी कम हो सकते हैं। इनमें भी जो मामले ज़मीनी स्‍तर पर जांच जा सके हैं उन्‍हीं का विवरण रिपोर्ट में दर्ज है। जिनके विवरण दर्ज नहीं हैं उनको रिपोर्ट में जोड़े जाने का आधार मीडिया और सोशल मीडिया में आयी सूचनाएं हैं।   हमले की प्रकृति हत्‍या शारीरिक हमला मुकदमा/गिरफ्तारी धमकी/हिरासत/जासूसी कुल वर्ष